PMEGP Loan के लिए Online Apply कैसे करे ? बेस्ट टिप्स इन हिंदी

pmegp loan yojana kya hai

PMEGP Loan Yojana क्या है ?

PMEGP loan योजना का मुख्य उदेश्य था की गावों और शहरी क्षेत्र में छोटे business शुरू करने और उसको आगे बढ़ाने के लिए युवाओं को उत्साहित करना इसके लिए साथ में दो कार्यक्रम 31 मार्च 2008 को पहले PMRY (प्रधान मंत्री रोजगार योजना) और REGP (ग्रामीण रोजगार सृजन कार्यक्रम) को मिलाकर शुरू किया गया था। MSME के जरिये भारत सरकार इस कार्यक्रम का administrative control अपने हाथ में रखती है जिससे लेन देन में कोई दिकत न हो


PMEGP का पूरा operational कार्य international level तक बढ़ाने के लिए KVIC के हाथ में दे रखा है और राज्य स्तर पर pmegp scheme को बढ़ाने के लिए स्टेट बोर्ड और जिला स्तर पर इसको बढ़ाने के लिए DIC के हाथो में है. यह मुख्य रूप से एक क्रेडिट-लिंक्ड सब्सिडी है जो देश के युवाओं के बीच नए उद्यम स्थापित करके निर्माण और सेवाओं के व्यवसाय में शामिल होकर रोजगार को बढ़ावा देने के लिए प्रदान की जाती है।

ये भी पढ़ें: How to Get PMEGP Loan in Hindi ? PMEGP ऋण कैसे लें?

इस योजना को अच्छे से समझने के लिए इसके गहराई से समझना होगा


पीएमईजीपी Loan (ऋण) योजना की विशेषताएं क्या है ?


पीएमईजीपी Loan योजना का मुख्य आधार ये है की इसके जरिये लघु उधोग start करने के लिए सब्सिडी की सुविधा देना जिससे pmegp loan दे कर subsidy ऋण के जरिये छोटे स्टार्टअप को आगे बढाया जा सके


इस योजना के कुछ मुक्य विशेषताएं इस प्रकार हैं:


PMEGP, KVIC का प्रथम ये था की सभी सुविधावो को शामिल करते हुए इसको कई गुना आगे बढ़ाना।


PMEGP Loan Yojana का उदेश्य:


1. नये small businesses को start करने में मदद करके गावों और शहरो में नये रोजगार के अवसर को बढ़ाना

2. अपने पुरे देश में फैल रहें बेरोजगार युवाओं को self employment (स्वरोजगार) के अवसरों प्रदान करके उन्हें एक जुट बनाना

3. अपने देश में स्थायी रोजगार की तलाश में गावों से शहरो की तरफ पलायन को रोकना।

4. स्वरोजगार के साधन उपलब्ध कराकर ग्रामीण क्षेत्र में कारीगरों की आय में वृद्धि करना।


ये भी पढ़ें: GST (जीएसटी) क्या है ? इसके महत्व और फायदे in Hindi


PMEGP Loan योजना के तहत कितना लोन मिल सकता है?


MSME पर लागू होने वाले प्लान के तहत, पीएमईजीपी लोन योजना का दिशानिर्देश कुछ इस प्रकार है:


अगर आप manufacturing यानी कोई product बनाने वाला छोटा बिज़नस start करते है तो  - अधिकतम 25 लाख रुपये मिलेंगे।


अगर आप कोई सेवाएं प्रदान करने वाला बिज़नस (जैसे: courier service, ट्रांसपोर्ट, पैकर्स एंड मोवर्स, प्लंबिंग इत्यादि) start करते है तो आपको अधिकतम 10 लाख रुपये।


Self-Investment (स्व-निवेश) का नियम: यह नियम बिज़नस स्थापित करने के स्थान के आधार पर निर्धारित किया जाता है जैसे-


अगर मैदानी क्षेत्र है तो अधिकतम 1 लाख रुपये।

अगर पहाड़ी क्षेत्र है तो अधिकतम 1.5 लाख रुपये।

PMEGP Loan in Hindi


PMEGP Loan(ऋण) अवधि: यह loan चुकाने की अवधि 3 से 7 वर्ष के बीच होती है। बैंकों द्वारा समान रूप से बढ़ाई गई अवधि 6 महीने है। इस योजना के तहत कितना परसेंट लोन मिलता है?


पीएमईजीपी ऋण मिलने का आनुपातिक आवंटन निचे दिए गए स्लैब के अनुसार है:

PMEGP Loan Allocation Ratio


सब्सिडी को मार्जिन मनी के रूप में माना जाता है और यह उधारकर्ता के पूंजीगत व्यय के समानुपाती होता है। अधिशेष यदि कोई हो, केवीआईसी को वापस कर दिया जाता है।


PMEGP Loan (ऋण) का इंटरेस्ट रेट कितना है? - PMEGP Loan Interest Rate in Hindi


MSME बिज़नस के लिए बैंक के टर्म के अनुसार interest rate 11% और 12% प्रति वर्ष है। जबकि, आईएसईसी (ISEC-ब्याज सब्सिडी पात्रता प्रमाणन) योजना के प्रावधानों के तहत, कार्यशील और निश्चित पूंजीगत व्यय के मिश्रण के लिए लागू ब्याज दर 4% है।


केवीआईसी द्वारा बजट के "अनुदान" शीर्ष के तहत नियमित ब्याज दर के अंतर को पूरा किया जाता है। यह सुविधा केवल खादी और पॉलीवस्त्र के उत्पादन में शामिल सदस्यों तक ही सीमित है।

ये भी पढ़ें: अटल पेंशन योजना (APY) और राष्ट्रीय पेंशन प्रणाली (NPS) में अंतर क्या है ?

पीएमईजीपी ऋण के लिए कौन कौन आवेदन कर सकता है? -Eligibility Criteria of PMEGP Loan in Hindi


पीएमईजीपी आवेदन के लिए निचे दिए गए निम्नाकित नियमो को पूरा करना आवश्यक है:


  • आवेदन करने वाले व्यक्ति की आयु 18 वर्ष से अधिक होनी चाहिए
  • आवेदन करने वाला व्यक्ति कम से कम आठवीं कक्षा पास होना चाहिए।
  • स्वयं सहायता समूह पात्र हैं यदि उन्होंने किसी अन्य योजना का लाभ नहीं उठाया है।
  • पंजीकृत सोसायटी।
  • चैरिटेबल ट्रस्ट; तथा
  • उत्पादन के व्यवसाय में शामिल सहकारी समितियाँ।
  • ऋण प्राप्त करने के लिए कोई आय सीमा लागू नहीं है।
  • ऋण सुविधा केवल नए उद्यमों और उन लोगों पर लागू होती है जिन्होंने अतीत में इसी तरह की योजनाओं का लाभ नहीं उठाया है


पात्र गतिविधियों की सूची: यह Loan सिर्फ वैसे बिज़नस गतिविधियों को मिल सकती है जो इसके स्वीकृत यानी except वाले लिस्ट में आता है और जो इसके मानक लिस्ट के बहार है वो नकारात्मक सूची में आते हैं।


स्वीकृत सूची (Exception List):


  • फ़ूड प्रोसेसिंग जो कृषि पर आधारित हो।
  • हाथ से बने कागज और फाइबर का उत्पादन।
  • वनों, खनिजों, रसायनों और पॉलिमर से प्राप्त उत्पाद।
  • जैव प्रौद्योगिकी और ग्रामीण इंजीनियरिंग।
  • सेवा और कपड़ा उत्पाद।


नकारात्मक सूची:


  • मांस और कसाईखाना।
  • शराब परोसने वाले रेस्टोरेंट और ढाबे।
  • तंबाकू और इसी तरह के उत्पाद।
  • ताड़ी की बिक्री और दोहन।
  • नकदी फसलों से संबंधित गतिविधियाँ।
  • बागवानी, फूलों की खेती, आदि।

PMEGP Loan के लिए Online Apply कैसे  करे ? बेस्ट टिप्स इन हिंदी

PMEGP Lone ऑनलाइन आवेदन के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट:


PMEGP ऑनलाइन आवेदन के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट की सूची बैंकों की आवश्यकताओं के अनुसार match करनी चाहिए।


1. PMEGP e-portal में इनफार्मेशन डालने के लिए loan लेने वाले के सभी KYC document जिसमें आधार, पैन और EPIC होने चाहिए।

2. जाति या समुदाय प्रमाण पत्र

3. सब्सिडी का दावा प्रमाण पत्र।

4. प्रोजेक्ट कॉस्ट, expenditure कैपिटल और परियोजना लागत प्रमाण।

5. वर्किंग कैपिटल की आवश्यकता की अनुपस्थिति को निर्दिष्ट करते हुए बैंक के नियंत्रण कार्यालय से एक प्रमाण पत्र।

ये भी पढ़ें: How to Make 100 crore in हिंदी, वो भी अपने रिटायरमेंट तक

PMEGP Loan के लिए Online आवेदन कैसे करे ? -How to apply online for PMEGP Loan in Hindi?


लोन लेने वाले को पीएमईजीपी ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया के लिए ऑफिसियल पोर्टल पर जायें:- https://www.kviconline.gov.in/pmegpeportal/pmegphome/index.jsp।

प्रक्रिया को पूरा करने के लिए आवश्यक इनपुट को तीन चरणों में विभाजित किया जा सकता है।


निचे दिए गए Steps को फॉलो करते हुए loan प्रक्रिया को पूरा करे: 


Step-1: इस step में अपना personal डिटेल्स डालने होते हैं। 


Step-2: इस step में पीएमईजीपी loan से संबंधित सभी जानकारी दर्ज करना होता है, जिसमें पीएमईजीपी loan का लिमिट भी शामिल है। 


Step-3: बैंक का खाता विवरण डालना अनिवार्य है।


Step-4: इस step में आवेदन को पूरा करने के लिए document को डिजिटल फॉर्म (स्कैन कॉपी) के रूप में सबमिट करना है।


Step-5: सभी 4 step पूरा होने के बाद आपको भरे गए form का preview दिखाया जायेगा जिसके तहत अपने गलती की सुधार की जा सकती है. उसके बाद फाइनल सबमिट बटन दबाकर pmegp loan की ऑनलाइन प्रक्रिया को पूरा कर सकते है


Note: फाइनल submission के बाद एक एप्लीकेशन रिसीप्ट ID (आवेदन पावती आईडी) और password (पासवर्ड) भविष्य में इस्तेमाल के लिए रजिस्टर्ड मेल आईडी पर संदेश भेजे जाते हैं।


PMEGP Loan FAQ in Hindi:

Q-1. क्या मार्जिन मनी के लिए कोई लॉक-इन अवधि निर्धारित है?

Ans: हां, मार्जिन मनी जो कि परियोजना लागत का सब्सिडी घटक भी है, 3 साल के लिए बंद है। यह एक अलग एसबी खाते में आरक्षित है, जो बाद में बैंक की आवश्यकताओं के अनुसार धन के उपयोग के अधीन समग्र पीएमईजीपी ऋण सीमा के खिलाफ ऑफसेट है।

Q-2. किराए और भूमि पर खर्च को परियोजना लागत के एक घटक के रूप में कैसे माना जाता है?

Ans: किराए की लागत, यदि यह अधिक नहीं है और 3 वर्ष की आयु में है, तो इसे परियोजना लागत का घटक माना जाता है। जबकि, भूमि की लागत परियोजना लागत के वैध घटक के रूप में योग्य नहीं है।

Q-3. पिछले कुछ वर्षों में इस योजना का प्रदर्शन कैसा रहा है?

Ans: निम्नलिखित ग्रिड पीएमईजीपी ई पोर्टल से प्राप्त मटेरियल के रूप से पीएमईजीपी की उपलब्धि के सांख्यिकीय अनुपात का संकेत है।

PMEGP Loan Growth


Q-4. पीएमईजीपी योजना के तहत दिए गए ऋणों में सुरक्षा का प्रावधान क्या हैं?

Ans: आरबीआई एक guide लाइन के अनुसार, 10 लाख रुपये तक की परियोजना लागत वाली start-up या प्रोजेक्ट के लिए इन्शुरन्स की आवश्यकता को माफ कर दिया गया है। वही दूसरी ओर, सीजीटीएसएमई (CGTSME) के लिए एक गारंटी प्रदान करने का प्रावधान है जो योजना के तहत 5 लाख रुपये और 25 लाख रुपये की परियोजना लागत वाली इकाइयों के लिए संपार्श्विक के बराबर है।

Q-5. इस योजना के तहत, क्या loan लेने वाले के लिए एक से अधिक प्रोजेक्ट का प्रस्ताव करने का प्रावधान है?

Ans: नहीं, इस योजना के तहत loan लेने वाला केवल एक प्रोजेक्ट की प्रस्ताव रख सकता है।


PMEGP Loan Yojana संक्षिप्त में:


पीएमईजीपी भारत सरकार की प्रमुख पहल है, जिसमें रोजगार के अवसर पैदा करने की दिशा में काम करने के लिए एक व्यापक कदम है, जो मुख्य रूप से स्थायी जीवन के पारंपरिक तरीकों को प्रभावित करता है। 


योजना के सफल कार्यान्वयन में संभावित लाभार्थियों की पहचान के लिए पंचायतों सहित शासन के जमीनी स्तर पर कई एजेंसियों की भागीदारी की परिकल्पना की गई है। 


पीएमईजीपी योजना की सफलता से बेरोजगार युवाओं का एक बड़ा वर्ग लाभकारी रोजगार सुनिश्चित करेगा और देश में ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों की जनसांख्यिकीय स्थिरता सुनिश्चित करेगा।


Post Tags: pmegp loan scheme in hindi, pmegp loan interest rate in hindi, pmegp loan ke liye online apply kaise karen, pmegp loan kaise le, pmegp loan yojana in hindi, pmegp loan details in hindi, pmegp loan in hindi, pmegp loan process in hindi, pmegp loan scheme in hindi, pmegp documents required in hindi, pmegp loan yojana kya hai, pmegp loan kitne din me milta hai, pmegp loan documents in hindi, pmegp loan eligibility in hindi, pmegp loan kaise milega, pmegp loan kaise milta hai, pmegp ke bare me jankari, pmegp loan guidelines in hindi, pmegp loan information in hindi.

0 टिप्पणियाँ