Old Blog Post को Update कैसे करें ? How to Optimize old content in Hindi

Old Blog Post को Update कैसे करें


दोस्तों, बहुत सारे Blogger है जो अपना Blog अपने जारकारी के अनुसार बना तो लिए है लेकिन उनका ब्लॉग search engine में न ही अच्छे से rank कर पाती है और न ही वो उससे कोई अर्निंग कर पाते है वैसे तो इसके बहुत से कारण होते है लेकिन उनमे से एक कारण ये भी है की वो अपने blog को time to time अपडेट नहीं करते इसका कारण कुछ भी हो सकता है ब्लॉग के साथ साथ blog post को भी regular update करना बहुत जरुरी है।


अब सवाल ये आता है की अपने Blog Post को update कैसे करे या up to date कैसे रखे? (how to update old blog post in Hindi)


लेकिन अपने पास अभी दो सवाल है एक ये की blog के पुराने post को अपडेट कैसे करें और दूसरा सवाल ये की अपने पुरे ब्लॉग को update कैसे रखे ताकि अच्छी ट्रैफिक भी आये और अच्छी सी कमाई भी हो।


ये भी पढ़ें: Covid-19 Vaccination Certificate PDF कैसे Download करे?


तो चलिए सबसे पहले ये जानते है की अपने blog के पुराने post या content को update कैसे करें?


वैसे तो बाहर सारे तरीके है जिससे blogger अपने ब्लॉग पोस्ट को अपडेट करते है लेकिन मेरे अनुभव के हिसाब से आज मै उन में से जो सबसे best और easy way तरीके है उसे बताने जा रहा हूँ।


तो अगर आप एक अच्छे blogger बनना चाहते है तो इसे पूरा पढ़िएगा तभी आपको अच्छे से समझ में आएगा की पुराने ब्लॉग पोस्ट को अपडेट करके ब्लॉग पर ट्रैफिक लाने का क्या खेल है, तो चलिए सुरु करते है निचे Top 10 तरीके दिए गए है जिससे अपने purane blog post को update कर सकते हैं। अब सवाल नंबर 1 से।

  

Old Blog Content को कैसे Update करें ? - How To Update Old Content in Hindi

how to update old content in hindi


1. Title को छोटा लिखे जो आसानी से समझ में आ जाय।


गूगल अल्गोरिथम के अनुसार Blog Post का Title 60 कैरेक्टर से जयादा नहीं होना चाहिए, इसलिए टाइटल को जब भी लिखे तो ऐसा लिखे की टाइटल छोटा भी हो और उसे पढ़ने के बाद ये समझ में आ जाये की blog post किस बारे में है।


सबसे अच्छा ये है की टाइटल में single keyword इस्तेमाल करें इससे टाइटल अपने आप छोटा हो जायेगा। Single Keyword इस्तेमाल करने से ये फायदा होता है की उसका back link बनाने में आसान होता है हमें सिर्फ एक ही कीवर्ड को लेकर उसका प्रमोशन करना होता है।


जब हम सिंगल कीवर्ड वाला टाइटल लिखते है तो इसे Google में रैंक करने में भी आसानी होती है और हम अपने कॉम्पिटिटर को भी compete कर सकते हैं।  ब्लॉग post का title ऐसा होना चाहिए जैसे की film का नाम से नहीं पूरी फिल्म देखने के बाद पता चले की कहानी क्या है।


ये पढ़ें:- बेहतरीन Title Generator Tools कौन कौन से है।  


2. Deep Color Image or Thumbnail लगाये। 


अपने ब्लॉग पोस्ट में जो हम image लगाते है और जिसका thumbnail बनता है वो कम से कम HD क्वालिटी का होना चाहिए और उसका color डीप होना चाहिए ताकि जब visitor blog पर आये तो उसपर क्लिक जरूर करें और ब्लॉग पोस्ट को पढ़े।


जैसे हम कोई इमेज या photo देखते है तो उसे अपने इस्तेमाल में लाने के लिए download जरूर करते है क्यों की वो हमें ऐसे attract करता है की हम उसे download किये बिना नहीं रहते।


एक सावधानी और भी बरते किसी दूसरे ब्लॉग से कोई image लेकर अपने ब्लॉग पर ना लगाए नहीं तो copy write claim हो सकता है और Google भी आपके साइट को penalize कर सकता है।


इससे अच्छा है की बहुत सारे creative common license free या royalty फ्री वेबसाइट मौजूद है जहा से आप HD image download कर के अपने ब्लॉग पर इस्तेमाल कर सकते है जैसे की example के लिए suttor stock, और भी।


3. Post को Current Information के साथ Update करे।


हर समय परतेक छेत्र में कुछ ना कुछ बदलाव जरूर होते रहता है उसी तरह अपने ब्लॉग पोस्ट को भी समय के साथ current information से अपडेट करते रहना चाहिए।


Google हर समय अपने अल्गोरिथम में कोई ना कोई update करता है उसके अनुसार अगर अपने ब्लॉग पोस्ट को अपडेट नहीं करेंगे तो रैंकिंग पर असर पर सकता है।


डिजिटल छेत्र में अगर आप अपडेट नहीं रहेंगे तो आपका कॉम्पिटिटर आपको पीछे कर सकता है और अपने ब्लॉग से जो पैसे कमाने का आपका goal होगा वो समाये से पूरा नहीं हो सकता है।


Blog Post को Current Information के साथ update करना इसलिए भी जरुरी है ताकि Google में ranking बनी रहे या ranking ऊपर बढ़ें।


4. Paragraphs को 2 या 3 लाइन में ही लिखे।


Paragraphs को छोटा यानि 2 या 3 लाइन में ही लिखना चाहिए क्यों की आप खुद सोच सकते है की ज्यादा बड़ा या लेंदी paragraphs पढ़ना अच्छा लगता है या छोटा पैराग्राफ्स पढ़ने में आसानी होती है जैसे इस पोस्ट में लिखा गया है।


बहुत सारे ब्लॉगर है जो इस content writing formula का उपयोग करके अपने ब्लॉग का readability को बढ़ाया है छोटा paragraph होने से visitor को ब्लॉग पोस्ट scan करने में दिकत नहीं होती है और एक बात user कभी कंटेंट को पढ़ने में बोड़ नहीं होता है।


Paragraph writing एक skill भी होता है जिसकी digital world में बहुत डिमांड है अगर आप पैराग्राफ लेखन में एक्सपर्ट बन गए तो एक अच्छी earning कर सकते हैं।


पैराग्राफ राइटिंग से जुडी हुई कुछ सवाल जो आपको और मदद कर सकती है इसे जरूर पढ़ें।


Paragraphs राइटिंग के आसान तरीके क्या है।

Paragraphs writing के रहस्य क्या हैं।

एक perfect paragraph कैसे लिखें।


वैसे तो इससे जुड़ी हुई बहुत सारे सवाल है लेकिन फ़िलहाल हमलोग इतना समझे की blog पोस्ट का पैराग्राफ short, simple, scanable, और अच्छी readability के साथ होना चाहिए।


5. ज्यादा CTR वाला link add करे।


अपने ब्लॉग पोस्ट के पैराग्राफ में या उसके बिच में ज्यादा CTR वाला लिंक ऐड कर सकते है, एक पैराग्राफ में एक से ज्यादा लिंक ना लगाए ज्यादा लिंक लगाने से एक तो अच्छा नहीं लगता और link spamming भी हो सकता है।


अब आप पूछेंगे की ज्यादा CTR वाला लिंक क्या है या यह कैसा होता है तो मैं बतादूँ की वैसा लिंक जिसपर आप click किये बिना न रह सके। अगर आप इंट्रेस्टिंग लिंक अपने ब्लॉग पोस्ट में लगते है तो इससे आपके ब्लॉग का bounce rate कम हो सकता है नहीं, होता भी हैं।


निचे दिए गए लिंक के माध्यम से आप जान सकते है की CTR क्या है और इसके link के कुछ उदहारण।


इसे जरूर पढ़ें:- CTR क्या होता है 15 उदहारण link है जिससे bounce rate 30% से भी कम हो जायेगा।


6. अपने लिखावट और Spelling को सही करे।


बहुत सारे ब्लॉग पोस्ट ऐसे लिखे होते है की पढ़ने पर कुछ समझ में ही नहीं आता है और spelling या सब्द में भी गलती होती है तो आप जब भी अपना old blog post अपडेट करें तो इस बात का खाश ख्याल रखे की आपका लिखने का तरीका, अगर आप English में लिखते है तो grammar and spelling का मिस्टेक नहीं होना चाहिए।


बहुत सारे beginners blogger किसी दूसरे का कंटेंट को कॉपी या ट्रांसलेट करके अपने ब्लॉग पर चढ़ा देते है लेकिन उसमे कोई एरर है की नहीं ये भी चेक नहीं करते जबकि इंटरनेट पर बहुत सारे Free Grammar and Spelling Checker Tools मौजूद है जिसके माध्यम से आप बिलकुल सही content लिख सकते हैं।

  

ये जरूर पढ़े:- Free Grammar और Spelling Checker Tools कौन कौन से है हिंदी में जानकारी।


7. अपने दूसरे Post का Internal linking करे।


जब आप पुराने ब्लॉग पोस्ट को अपडेट कर रहे है तो इसका मतलब ये है की आपके पास पहले से ही बहुत सारे ब्लॉग पोस्ट मौजूद है तो जब किसी भी पोस्ट को अपडेट करे तो अपने ब्लॉग के पुराने पोस्ट को लिंकिंग उस पोस्ट में जरूर करें ताकि जब कोई रीडर इस पोस्ट पर लैंड करे तो लिंक किये हुए पोस्ट को भी पढ़े और जल्दी से उस पेज को छोर के ना जाये इससे bounce rate घटता हैं।


Blog या blog post का bounce rate 30% से ज्यादा नहीं होना चाहिए उससे ब्लॉग की रैंकिंग और popularity पर असर परता है। अगर आपको ये पता नहीं की Bounce Rate क्या होती है तो निचे दिए गए लिंक के माध्यम से आप इसकी पूरी जानकारी हिंदी में ले सकते हैं।


इसे पढ़ें - Bounce Rate क्या होती है इसे घटाने के 10 बेहतरीन तरीके हिंदी में जानिए।


8. अपने Old Blog Post को Republish करे।


अब सवाल ये है की अपने old blog post को republish कैसे करें?


अगर आप blogger पर blog बनाये है तो उसके publish date सेक्शन में जा कर कुरेन्ट डेट को डाल कर republish कर सकते है और important keyword डाल कर description को भी अपडेट कर दें। या कुरेन्ट डेट और टाइम का एक कोड आता है आप उसे भी कंटेंट सेक्शन के पहले इस्तेमाल कर सकते है। 


जब blog post दुबारा से index और Cache होगा तो वो डेट एंड टाइम अपने आप description एरिया में दिखायेगा। उदहारण के लिए निचे दिए गए इमेज से समझे।

blog के पुराने post को update कैसे करें


और अगर आप WordPress पर ब्लॉग्गिंग करते है तो उसमे भी डेट एंड टाइम को अपडेट करने का ऑप्शन होता है।


9. Update करते समय ये गलती न करें।


Blog Post अपडेट करते समय कुछ सावधानी बरतने की जरुरत होती है तो कम से कम अपडेट करते समय ये गलती कभी न करे।


ब्लॉग पोस्ट अपडेट करते समय पोस्ट के URL को यानि Permalink में कुछ भी बदलाव न करे अगर ऐसा होता है तो वो आपका नया ब्लॉग पोस्ट हो जायेगा और उसका जो भी back links होगा वो ब्रोकन लिंक में काउंट होना सुरु हो जायेगा जो गूगल कभी भी सही नहीं मानता है और आपका ranking बढ़ने के बदले घट भी सकती है।


तो इस बात का खास ख्याल रखे की पोस्ट के लिंक में कोई भी छेड़ छार नहीं हो नहीं तो बहुत ज्यादा खामियाजा उठाना पड़ेगा।


10. Post को update करके उसे promote करें।


जब आपका old blog post refresh हो जाये तो अपने subscriber, readers और users को social media site के मदद से उन्हें updates के बारे में जरूर बताये ताकि उनको भी ये पता चले के कुछ नया इनफार्मेशन है।


बहुत सारे social networking site है जिसके माध्यम से आप तुरंत अपने ब्लॉग को promote कर के बहुत ज्यादा ट्रैफिक अपने blog पर ला सकते है। अधिक जानकारी के लिए निचे दिए गए लिंक के माध्यम से पढ़ें।


Online Promotion क्या है, Site को Promote कर के इससे पैसे कैसे कमाए?

टॉप 8 Social Site से पाये लाखो के traffic और लाखो के इनकम।



अंतिम बात:


दोस्तों अपने ब्लॉग के पुराने ब्लॉग पोस्ट को समय के साथ optimize करना उतना ही जरुरी है जितना मार्किट में खुद को अपडेट रखना, क्यों की एक कहावत है की जो दीखता है वही बिकता है अगर आप अपने ब्लॉग्गिंग से कुछ नहीं बहुत पैसे कामना चाहते हो तो इस टिप्स को आपको फॉलो करना ही होगा नहीं तो सिर्फ आप अपना टाइम वेस्ट करोगे।


दोस्तों, मैंने अपने तरफ से पूरी कोसिस की है की आपको पुरी जानकारी मिले की अपने blog के old blog post को update कैसे करें?


लेकिन अगर आपको लगता है कुछ बाकी रह गया है या इससे जुड़ी हुई और कोई सवाल अभी भी आपके मन में बवाल मचा रही है तो बिना देर किये अपना सवाल comment box में लिख कर हम से पूछ सकते है हम आपकी पुरी मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है।


और अगर आपको ये लगता है ये जानकारी से किसी और को भी help मिल सकती है तो please इसे अपने सारे ग्रुप में शेयर जरूर करें क्या पता अनजाने में ही सही हमसे किसी का भला हो जाये। आपने एक कहावत तो जरूर सुनी होगी "कर भला तो हो भला"। 


Related Post:

 

Money Making ब्लॉग कैसे Start करें?

viral ब्लॉग Post कैसे लिखें?

ब्लॉग पोस्ट को optimize कैसे करें?

ब्लॉग पर organic traffic कैसे बढ़ाये?

सेल्स funnel क्या है?

SEO Friendly Blog Post कैसे लिखें?

Niche Blogging क्या है?

Local SEO से अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे बढ़ाएं?

Guest Blogging क्या है? इससे अपने ब्लॉग पर ट्रैफिक कैसे लाएं?

Search Intent क्या है? यह SEO के क्यों जरुरी है?

On Page SEO का technique क्या है?

Off Page SEO करने का सही तरीका क्या है?

एफिलिएट marketing क्या है इसे कैसे शुरू करें?

New Blogger के लिए Best blogging Platform कौन कौन से है?


Tags: how to optimize and republish old blog posts, update old blog post in hindi, optimize an existing content in Hindi, refresh and recycle blog post.


0 टिप्पणियाँ