On Page SEO कैसे करें, Best Activities, Technique क्या हैं in Hindi

On Page SEO कैसे करें, Best Activities, Technique क्या हैं in Hindi

On Page SEO kya hai
On Page SEO क्या हैं? Activities & Checklist in Hindi

On Page SEO क्या हैं और इसे सही तरीके से कैसे करें इसके बारे में बहुत से beginner blogger है जिनको इसकी टेक्नीकी समझ में नहीं आती है।
 
दोस्तों, आज के इस पोस्ट में मैं आपको इसके मेन activities and technique in Hindi, google के algorithm के अनुसार optimize कैसे करते है जिससे blog या website गूगल या किसी भी search engine में rank कर पता है। 

किसी भी वेबसाइट या ब्लॉग को जिस SEO activities द्वारा search engine में रैंक कराने के लिए जो काम किया जाता है उसे On-Page SEO कहते हैं। इसमें बहुत ऐसे काम होते जिसको करने के बाद ही blog गूगल के पहले पेज पर रैंक कर पता है। जिसके बारे में On page SEO कैसे करें वाले सेक्शन में डिटेल में बताया गया है।

वैसे तो हर कोई चाहता है की मेरा ही blog या website सर्च इंजन के पहले पेज पर number-1 पर रैंक करे लेकिन गूगल के सॉफ्टवेयर quality content के साथ साथ बहुत सारे मानकों को देख कर ही अपने रैंकिंग में position देता है। 

जिस वेबसाइट या ब्लॉग का क्वालिटी गूगल के अल्गोरिथम से मिलता है उसको ही अच्छे पोजीशन पर रैंक प्रदान करता है। इसमें competition भी बहुत है। इसी competition को जितने के लिए ऑन-पेज SEO technique अपनाया जाता है।

On Page SEO कैसे करें? Activities and Checklist in Hindi

On Page SEO Kaise Karen ?
On Page SEO कैसे करें, Best Activities, Technique क्या हैं

अगर बात करें की On-Page SEO कैसे करें तो मैं आपको ये बता दू की निचे दिए गए पुरे activity को ध्यान पूर्वक समझ कर अपने ब्लॉग पर इस्तेमाल करें।
 
ऑन-पेज SEO ही किसी ब्लॉग को गूगल में रैंक करा कर सक्सेसफुल बनाने की चाभी है। अगर सिर्फ original content भी लिख ले तो सिर्फ उससे वेब पेज को रैंकिंग नहीं मिल सकती है। उसके साथ साथ strategy पूर्वक On page SEO करना ही पड़ता है जिसका लिस्ट और उसको अच्छे से describe किया गया है की किस सेक्शन में क्या क्या काम करना पड़ता है।

1. Original और Quality Content लिखे। 

जब भी आप content लिखे या किसी से लिखवाये तो उसको अपने publish करने से पहले copyscape टूल पर जरूर चेक कर ले की कही duplicate तो नहीं है।

वैसे तो content 100% original हो तो सबसे अच्छा होगा लेकिन फिर भी आपके ब्लॉग पोस्ट की सुधता कम से कम 90% होनी चाहिए तब जाकर उस post का गूगल में रैंक करने का चांस बनता है नहीं तो फिर कोई फायदा नहीं।
 
ओरिजिनल ब्लॉग पोस्ट लिखते समय सही सब्दो को ही प्रयोग करें और उसका अर्थ भी सही और सटीक होना चाहिए जिससे blog पर आने वाले visitor को पढ़ने में कोई दिकत न हो या समझ में न आये।

अगर बिना अर्थ के आप कोई content लिखते है तो सायद वो गूगल में रैंक हो जायेगा लेकिन वो जल्द ही आपके ब्लॉग से चला जायेगा जिससे आपके ब्लॉग का bounce rate बढ़ेगा तो रैंकिंग भी down हो जाएगी। इस लिए जो भी कंटेंट लिखे और ओरिजिनल लिखे और सही लिखे चाहे समय थोड़ा अधिक की लगे।

2. Blog Post के Meta Data को optimize करें। 

Meta Data में मुख्य रूप से तीन पॉइंट होते है जैसे Title, Description और Keywords, जिसको optimize किये बिना On-page का काम पूरा नहीं होता है। 

आइये अब ये जानते है की इसको optimize कैसे करते है।

Title Tag को optimize करते समय अपने targeted keyword को पहले रखे उसके बाद सपोर्टेड वर्ड्स लिखे। जैसे आपका कीवर्ड है "ब्लॉग कैसे स्टार्ट करें" तो इसको ब्लॉग पोस्ट के टाइटल में दिए गए उदहारण के हिसाब से optimize कर सकते है। 
                                                 
B)  ब्लॉग स्टार्ट करने का Tips and Trick कैसे करें in Hindi (Not-optimized)

अगर आपका एक से अधिक targeted keyword है तो दोनों को मिला कर एक Title बनाना होगा जो देखने में एक ही वाक्य लगे। इससे ये होगा की आपका title भी optimize हो जायेगा। Title Tag की लेंथ को हमेशा 55 से 65 character के बिच में ही लिखे ज्यादा लिखने पर ranking में दिकत हो सकती है।

Description: Meta Tag के description में भी अपने 2 या 3 keywords को मिला कर पैराग्राफ लिख सकते है इसमें भी ये ध्यान रखना होगा की इसकी length 155 character ज्यादा नहीं होना चाहिए नहीं तो ये ऑप्टिमाइज़ meta नहीं कहलायेगा।
     
Keywords: एक ब्लॉग पोस्ट में ज्यादा से ज्यादा 3 या 4 कीवर्ड ही टारगेट करें ज्यादा टारगेट करने पर ब्लॉग पोस्ट को रैंक करने में कठिनाई होती है। वैसे ब्लॉग पोस्ट के कीवर्ड सेक्शन में टार्गेटेड कीवर्ड्स को सीधे सब्दो में, उलटे सब्दो में, नकरात्मक और प्रवाची सब्दो को मिलकर भी लिख सकते है। keyword सेक्शन में character काउंट नहीं होता है और न ही उसकी लिमिट अभी तक बनाई गई है।

3. Content की Length कितनी होनी चाहिए?

अपने ब्लॉग पोस्ट के content की सुधता के साथ साथ content की length पर भी ध्यान देना चाहिए। एक अच्छे ब्लॉग पोस्ट के लिए content की length कम से कम 2500 सब्दो का होना चाहिए।

इसका आकलन आप दूसरे ब्लॉगर जिसका ब्लॉग top 5 में रैंक कर रहा है को देख कर कर सकते है। किसी भी टॉपिक के ऊपर अगर आप article लिखते है तो उसको पूरा व्याख्या कर के ही अच्छे से समझा कर लिखे ताकि आपके reader समझ में आसानी से आ जाये और वो आपका ब्लॉग को पूरा पढ़े इससे ब्लॉग की bounce rate सही रहता है।

जब आप अपने ब्लॉग पोस्ट को पूरा descriptive तरीके से लिखेंगे तब content अपने आप 2500 से ज्यादा का हो जाएगा।
    
4. SEO Friendly URLs बनाएं। 

अगर आप confuse हो रहे है तो मैं आपको बताता हूँ की SEO Friendly URLs क्या हैं ?
 
SEO Friendly URL का मतलब ये होता है की वो search engine और user friendly होना चाहिए। अब ये कैसे होगा इसकी जानकारी निचे दिए गए उदहारण से समझ सकते है।

उदहारण : 
yoursite.com/how-to-do-on-page-seo  (सही है)
yoursite.com/2020/02/how-to-do-on-page-seo.html (70% सही है)
yoursite.com/how-to-do-on-page-seo/32346 (सही नहीं है)
yoursite.com/ 32346 (बिलकुल सही नहीं है)

5. पहले Keyword Research करें ले फिर कंटेंट लिखे। 

बिना keyword research किये कन्टेन्टको ऑप्टिमाइज़ करने में बहुत दिकत होती है। वैसे कीवर्ड् पर content लिखना चाहिए जिसकी सर्च ज्यादा हो लेकिन competition low हो उसी keyword को लेकर कंटेंट को Optimize करने से अच्छी खासी ranking और traffic मिलती है तो on page SEO में इस बात का खास ख्याल रखना चाहिए।

6. Long Tail Keywords से Blog Post को Optimize करें।

Content Optimization करने का सबसे बेस्ट तरीका है की जो keywords इस्तेमाल करना है उसमे extra वर्ड फ्रेज जोड़ कर उसे long tail keywords बनाया जाता है और उससे अपने blog post को optimize किया जाता है ताकि रैंकिंग के साथ साथ ट्रैफिक भी बढ़ जाता है। 
Long Tail Keywords क्या है? इसको कैसे सेट करते है इसके कुछ उदाहरण निचे दिए गए है जिसको समझ कर आप अपने कंटेंट को ऑप्टिमाइज़ कर सकते है।

Long Tail Keywords Example: 
अगर इसी पोस्ट से related बात करें तो इसमें मैं कीवर्ड्स है "On Page SEO" अगर इसको लॉन्ग टेल कीवर्ड बनाना है तो इसमें लिखेंगे जैसे अगर hindi कीवर्ड बनाना है तो लिखेंगे "On-Page SEO क्या है ?", "ऑन पेज SEO कैसे करें", "What is On-Page seo in Hindi" इस तरीके से long tail keyword बना सकते है।

7. Images को Optimize और Customize जरूर करें।

ब्लॉग पोस्ट में जो Image इस्तेमाल होता है उसे भी जरुरत के हिसाब से optimize करना बहुत जरुरी होता है जैसे उसमे alt tag, title tag, hr tag, और उसके साइज को भी customize करना भी महत्वपूर्ण होता है। अगर ये सब नहीं किया जाये तो रैंकिंग में अच्छे पोजीशन पर स्थान पाना बहुत मुश्किल हो जाता है। इसलिए इस पॉइंट को भी ध्यान देना चाहिए।

8. Keyword stuffing पर भी ध्यान दें।
 
ऑन पेज SEO ऑप्टिमाइजेशन में keyword stuffing भी बहुत important पॉइंट है जिसको अगर इग्नोर कर दिया जाए तो ब्लॉग पोस्ट को rank करना मुश्किल हो जाता है।
 
अगर आप नहीं जानते है की keyword stuffing क्या है तो सबसे पहले इसके बारे में जानकारी ले और उसके हिसाब से अपने ब्लॉग पोस्ट के कंटेंट को ऑप्टिमाइज़ करें।
 
वैसे मैं यहां तो hints दे देता हूँ की आपके पोस्ट में जो टार्गेटेड कीवर्ड्स होते है वो 30% से ज्यादा नहीं होना चाहिए अब इसका calculation कैसे करते है इसकी जानकारी दिए गए पोस्ट लिंक के माध्यम से ले सकते है।

9. साइट को Mobile Friendly बनाने पर ध्यान दें।

जिस तरह आज के समाय में ज्यादा लोग android mobile चलाते है और अपना अधिकतम ऑनलाइन काम मोबाइल से ही करते है तो अगर हम अपने site को mobile interface के हिसाब से नहीं बनाएंगे तो हमारे website या ब्लॉग पर traffic नहीं आएगा। 

इसलिए जब भी site बनाये तो इस बात का जरूर ध्यान रखे की वो mobile friendly हो और वो आसानी से गूगल में रैंक करें और यूजर हमारे साइट पर भी visit करें और हमारे साइट का भी traffic increase हो।
 
अगर आपको ये नहीं पता है की साइट को mobile friendly कैसे बनाते है तो Internet पर इसके बारे में बहुत सारे site है या video है जिसके जरिये आप जानकारी ले सकते है।

10. साइट की Loading Speed पर भी ध्यान दें।

11. Blog की Loading Speed को Improve करें। 
12. सही H1 Tag का उपयोग करें। 
13. अपने पोस्ट में Broken Links को चेक करें। 
14. पोस्ट में Internal Linking जरूर करें। 
15. Blog Post में Matched Keywords डालें। 
16. Affiliate Links and Untrusted Links के लिए Nofollow Tag का उपयोग करें। 
17. पोस्ट में External Link का भी इस्तेमाल करें। 
18. पोस्ट में Social Sharing Buttons भी जरूर जोड़े। 
19. अपने Title में Modifiers सब्द का इस्तेमाल करें।    
20. अपनी साइट को Clean और Simple रखें।

Tags: On Page SEO kya hai, On Site SEO Technique in Hindi, On page SEO kaise Karen, What is on page seo in hindi, On Page SEO Activities, On Page SEO Checklist, On page SEO kaise Karen.

0 टिप्पणियां

Get My 10 Days Blogging Courses (Worth of Rs.3999) Absolutely FREE

Join Now 2500+ Happy Learner Community

* indicates required